अधूरा इश्क़

अधूरा इश्क और अधुरी ख्वाहिशें छोड़कर जा रहा हूं,
ऐ ज़िंदगी मैं, तुझ से रूठ कर अब कहीं दूर जा रहा हूं..

About The Author(s)

Share Your Voice

Leave a Reply