माना के तुम बहुत हो वीर

माना कि तुम बहुत हो वीर

मत छोड़ो तुम पत्थरबाजी के ये विषैले तीर

पूरा विश्व हो चुका है अब तुम भी हो जाओ थोड़े से गंभीर

राज-काज को चलने दो मत बनो इसके पीर

माना कि तुम बहुत हो वीर

यह धरती हमारी,
यह देश हमारा
रहो अपने घरों में

क्यों हो रहे हो तुम बाहर निकलने को अधीर ??

माना कि तुम बहुत हो वीर

डॉक्टर,पुलिस,सफाई कर्मी सब लगे है सेवा में बनके रणधीर

साथ इनका दिजीये घर पर रहके ही बनो शुरवीर

मुँह पर मास्क लगाइये,हाथों को अच्छे से धोइये

लॉकडाउन का पालन कर बनो तुम महावीर

माना के तुम बहुत हो वीर ….||

About The Author(s)

Share Your Voice

One comment

Leave a Reply